Bol Kaffara Kya Hoga Lyrics In Hindi - Blogging Rewards

Bol Kaffara Kya Hoga Lyrics In Hindi

Bol Kaffara Kya Hoga - Lyrics


तसकीन दिल की खातिर तुम बिछड़ते वकत मुस्कुराते रहो
वो जाने वाले दूर जात्ते हुए पलट के नज़र मिलाते रहो

दिल गलती कर बैठा है,गलती कर बैठा है दिल
दिल गलती कर बैठा है,गलती कर बैठा है दिल।
दिल गलती कर बैठा है तू बोल कफारा क्या होगा

मेरे दिल की दिल से तौबा ,दिल से तौबा मेरे दिल की
मेरे दिल की दिल से तौबा ,दिल से तौबा मेरे दिल की
मेरे दिल की तौबा के दिल अब प्यार दोबारा ना होगा

तू बोल कफारा कफारा बोल कफारा
तू बोल कफारा कफारा बोल कफारा
कफारा बोल वो यारा कफारा क्या होगा

हमने जुगनू जुगनू करके तेरे मिलन के दीप जलाये है
हमने जुगनू जुगनू कर के तेरे मिलन के की दीप जलाये है
अखियों में मोती भर भर के तेरे हिज़्र में हाथ उठाये है
तेरे नाम के हर्फ़ की तस्बीह को सांसो के गले का हार किया
दुनिया भूली सिर्फ हा सिर्फ तुझे ही प्यार किया

तुम्हे हम से बढ़ कर दुनिया,दुनिया तुम्हे हम से बढ़ कर
 तुम्हे हम से बढ़ कर दुनिया,दुनिया तुम्हे हम से बढ़ कर
हमको तुम से बढ़ कर कोई जान से प्यारा ना होगा

तू बोल कफारा कफारा बोल कफारा
तू बोल कफारा कफारा बोल कफारा
कफारा बोल वो यारा कफारा क्या होगा

हमे थी गरज़ तुम से और तुम्हें बेगरज होना था
तुम्हे ही लादवा होकर हमारा मर्ज़ होना था
चलो हम फ़र्ज़ करते है के तुम से प्यार करते है
मगर इस प्यार को भी किया हमी से फर्ज होना था

धड़कन धड़कन धरके धरके हम ने धड़कन धड़कन दिल तेरे दिल से जोर लिया आंखों ने आंखे पढ़ पढ़ के तुझे विरद बना के याद किया तुझे प्यार किया तो तू ही बता हमने क्या कोई जुर्म किया
और जुर्म किया है तो भी बता ये जुर्म के जुर्म की क्या है सजा

तुम जित गए हम हारे तुम हारे और तुम जीते
तुम जित गए हम हारे तुम हारे और तुम जीते
तुम जीत गए हो लेकिन हम सा कोई हारा ना होगा

तू बोल कफारा कफारा बोल कफारा
तू बोल कफारा कफारा बोल कफारा
कफारा बोल वो यारा कफारा क्या होगा


Previous article
Next article

Leave Comments

Post a Comment

Articles Ads

Articles Ads 1

Articles Ads 2

Advertisement Ads